Twitter
You are hereNari

मां बनते ही मेकअप से दूर भागती हैं महिलाएंः सर्वे

मां बनते ही मेकअप से दूर भागती हैं महिलाएंः सर्वे
Views:- Wednesday, November 21, 2018-3:02 PM

मां बनने के बाद अधिकतर महिलाओं की अपनी खूबसूरती को लेकर सोच बदल जाती है। दरअसल, वह मेकअप और ब्यूटी प्रॉडक्ट्स से दूरी बना लेती है। उनका मानना है कि अब उनकी सुंदरता खास मायने नहीं रखती हैं। जी हां, एक 'ब्यूटी सर्वेक्षण' में खुलासा हुआ कि लगभग 67 प्रतिशत माताओं का कहना है कि मां बनने के बाद उनका सौंदर्य को लेकर विचार काफी बदल चुका है। अधिकांश भारतीय महिलाएं सिंपल ब्यूटी रूटीन को फॉलो करती है जैसे सिर्फ फेस-वॉश या मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करती है। 

मॉमस्प्रेसो में किया गया 'ब्यूटी सर्वे'

महिलाओं से जुड़े यूजर जेनरेटेड कंटेंट प्लेटफार्म मॉमस्प्रेसो ने एक अध्ययन ‘ब्यूटी सर्वे’ जारी किया है। यह सर्वे मॉमस्प्रेसो के ‘मॉम्स हैप्पीनेस इंडेक्स’ के नतीजों पर आधारित है।

खूबसूरती को लेकर महिलाओं की सोच

'ब्यूटी सर्वे' में 25 से 45 वर्ष तक की माताओं को शामिल किया गया। 3 में से 2 माताएं सहमत है कि मां बनने के बाद उनका सौंदर्य को लेकर विचार बदल गया है। 50 प्रतिशत माताओं ने महसूस किया कि सुंदरता पैदाइशी होती है और वह इसको बढ़ाने के लिए कुछ नहीं कर सकती। वहीं, 70 प्रतिशत महिलाओं की सोच है कि सही ब्यूटी प्रॉडक्ट्स इस्तेमाल करके कोई भी महिला खूबसूरत व आकर्षक दिख सकती है। 

PunjabKesari. Nari ,After Pregnancy , Women Makeup Image

कॉस्मेटिक प्रॉडक्ट्स के बजाएं घरेलू उपचार

सर्वेक्षण के नतीजों से पता चला है कि कुल मिलाकर 90 प्रतिशत माताएं बहुत सारे कॉस्मेटिक प्रॉडक्ट्स यूज करने से बचती हैं क्योंकि उनका मानना है कि इससे खूबसूरती को नुकसान पहुंचता है। इसलिए 4 में से 3 महिलाएं कॉस्मेटिक प्रॉडक्ट्स के बजाएं घरेलू उपचार करना पसंद करती हैं।

PunjabKesari, Nari, After pregnancy, Women Makeup Products Image

ब्यूटी एेप्स की वजह से नहीं होती चिंता

वहीं, 70 प्रतिशत माताओं का कहना है कि उन्हें युवा या सुंदर दिखने की कोई जरूरत महसूस नहीं होती। दरअसल, इनमें से आठ प्रतिशत महिलाओं ने बताया कि उनके पास स्मार्टफोन पर अपनी तस्वीरों की सुंदरता बढ़ाने के लिए ऐप्स मौजूद हैं। वहीं उनमें से आठ प्रतिशत महिलाएं कॉस्मेटिक सर्जरी कराने की इच्छुक हैं। फिर रोज-रोज मेकअप करने की कोई चिंता ही नहीं रहेगी। 

मेकअप को लेकर महिलाओं की सोच

सर्वे में खुलासा हुआ कि पांच प्रतिशत माताएं रोज मेकअप करती हैं। 68 प्रतिशत रोज मेकअप करना नहीं चाहती।  वह ऑनलाइन ट्यूटोरियल, ब्लॉग्स और प्रॉडक्ट रिव्यू आदि पर भरोसा करती हैं। वहीं, 20 प्रतिशत माताएं हर महीने फेशियल, पील्स, लेजर जैसे ब्यूटी ट्रीटमेंट करवाती हैं।

PunjabKesari.Nari, After Pregnancy, Women Makeup Image


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by:

Latest News