10 DECTUESDAY2019 3:11:48 AM
Nari

मां को आग में लिपटा देख 9 साल की बेटी ने दिखाई हिम्मत, ससुरालवालों ने जलाया जिंदा

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 21 Aug, 2019 07:25 PM
मां को आग में लिपटा देख 9 साल की बेटी ने दिखाई हिम्मत, ससुरालवालों ने जलाया जिंदा

बेटियां कभी भी अपने पेरेंट्स पर बोझ नही होती है। वह तो दुख के समय में काम आती है। जिस घर में बेटी होती है उन्हें हमेशा एक सहारा रहता है। ऐसी ही बेटी है अनम, जिसने बहादुरी दिखाते हुए न केवल अपनी मां की मदद की बल्कि उसे मौत के मुंह में जाने से रोका। कुछ दिन पहले दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन में एक केस सामने आया है जिसमें सास व जेठानियों ने मिलकर अपनी बहु को जला कर मारने की कोशिश की हैं, वहीं बेटी ने मां को बचाने के लिए पुरी बहादुरी दिखाई। 

प्रॉपर्टी को लेकर ससुरालवालों ने किया बहु को आग के हवाले 

दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन इलाके में प्रॉपटी की मांग करने पर सास व तीन जेठानियों ने मिल कर अपनी देवरानी यासमीन को जिंदा ही जला दिया। यासमीन की 9 साल की बेटी अनम जब वह अपनी दो छोटी बहनों के साथ ट्यूशन से वापिस आई तो उसने मां को चीखने की आवाज सुनी। वह भाग कर ऊपर गई तो उसने देखा की उसकी मां पूरी तरह से आग से लिपटी हुई थी। तब उसने पास पड़े बर्तन की मदद से मां पर पानी डालना शुरु किया, उसके साथ देते हुए छोटी बहन ने भी पानी डालना शुरु किया। जब आग कम हुई तो उन्होंने मां को शावर के नीचे खड़ा कर दिया। जब कि उसकी बड़ी अम्मी निदा व कौसर जो उसे पकड़े हुए थे वहां से भाग गए। उन्होंने यासमीन पर मिट्टी का तेल डाल कर आग लगाई थी। आग कम होने पर अनम ने 100 नंबर पर पुलिस व अपने नानके में सारी घटना के बारे में जानकारी दी। उसके बाद वह यासमीन को अस्पताल में लेकर गए।

PunjabKesari,Nari

तीन साल पहले हुई थी पति की मौत

यासमीन के शौहर 3 साल पहले हार्ट अटैक से मर गए थे। तब से उसके ससुरालवाले उसे काफी परेशान कर रहे थे। उसके साथ मार- पीट भी करते थे, उसने कई बार केस दर्ज करवाया लेकिन पुलिस ने किसी भी तरह का कोई एक्शन नही लिया। यासमीन की छोटी बेटी अनम को शुगर है, जिसके कारण वह अपने ससुरालवालो से उसके इलाज के लिए पैसे मांगती थी। तब वह घर खर्च के लिए 5 हजार रूपए देते थे, ऐसे में बेटियों की पढ़ाई दवाई का खर्च उठाना काफी मुश्किल था। तब एक दिन यासमीन ने अपनी सास से पति का हिस्सा मांग लिया तो सास ने कहा कि बेटियों को हिस्सा नही दिया जाता हैं। 

PunjabKesari, Nari

बेटी के ब्यान पर दर्ज हुआ केस 

पुलिस में शिकायत बेटी अनम की बताई हुई बात पर दर्ज की गई हैं। जिसके तहत सास नूर, तीन जेठ आस मोहम्मद, अन्ने, दिलशाद, जेठानी रजिया, निदा व कौसर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई हैं लेकिन अभी उन्हें गिरफ्तार नही किया गया हैं। वहीं यासमीन का शरीर 80 फीसदी जल चुका हैं। उसकी जान बचेगी या नही अभी कुछ कहा नही जा सकता हैं। 
 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News