22 OCTTUESDAY2019 2:02:26 AM
Nari

कमजोर लिवर की 6 निशानियां, लापरवाही ले सकती है जान

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 19 Apr, 2019 12:03 PM
कमजोर लिवर की 6 निशानियां, लापरवाही ले सकती है जान

लिवर की हमारे शरीर में अहम भूमिका होती है जो शरीर में 500 से भी ज्यादा बॉडी फंक्शन को चलाने में मदद करता है। यह खून को साफ रखने के साथ-साथ खाना डाइजेस्ट करने में भी मदद करता है और शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है। मगर कई लोग ऐसे ही जिन्हें लिवर की अहमियत मालूम नहीं होती और इसकी देखभाल को हमेशा इग्नोर कर देते हैं। ऐसे ही लोगों को लिवर के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए 19 अप्रैल के दिन हर साल अंर्तराष्ट्रीय स्तर पर वर्ल्ड लिवर डे मनाया जाता है। क्या आप जानते हैं कि लिवर खराब होने से पहले कई संकेत देता है जिन्हें हम मामूली प्रॉब्लम समझकर नजरअंदाज कर देते हैं। चलिए आज हम आपको 5 ऐसी निशानियों के बारे में बताते हैं जो लिवर डैमेज की तरफ इशारा करती हैं। 

 

कैसे काम करता है लिवर?

दरअसल, हम जो कुछ भी खाते हैं वो सब हमारी आंतों में जाता है। वहां मौजूद एंजाइम्स भोजन का बारीक कणों में परिवर्तित कर देते हैं जिससे खाना अच्छे से डाइजेस्ट होता है। फिर आंतों से आधा पचा हुआ खाना लिवर में जाकर स्टोर होता हैं। लिवर अधपचे खाने को अपने अंदर स्टोर कर लेता है और रक्त प्रवाह के जरिए खाने में मौजूद सभी विटामिन्स व माइक्रोन्यूट्रीएंट्स को हमारे शरीर के सभी अंगो तक पहुंचाने का काम करता है, जहां इन तत्वों की जरूरत होती है। दूसरा लिवर शरीर से उन सभी विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है जो पानी में घुलनशील होते है। फिर लिवर इन पदार्थों को किडनी में ट्रांस्फर करता है जो यूरिन के जरिए इन्हें बाहर निकालती है। 

PunjabKesari


कौस-सा वायरस है डैमेज लिवर की वजह?

वैसे तो लिवर खराब करने की मुख्य कारण गलत खान-पान व लाइफ स्टाइल है लेकिन एक जैविक कारण भी है जो हमारे लिवर पर इफैक्ट डालता हैं। जैविक रूप से खराब लिवर की वजह प्रोटोजोआ प्रजाति के परजीवी कीटाणु को जि़म्मेदार माना जाता है। इस समस्या को एमेबिक लिवर एब्सेस कहा जाता है। इसके अलावा टीबी होने पर उसके वायरस लिवर को भी प्रभावित करते हैं, जो इस लिवर की  बीमारी का कारण बन जाते हैं। 
 

लिवर खराब होने की 6 निशानियां 

त्वचा पर नीली रेखाएं

अगर आपकी त्वचा के नीचे भी मकड़ी के जाल जैसी नीली रेखाएं दिखाई देती हैं, आमतौर पर ये रेखाएं चेहरे और पैरों में दिखाई देती हैं। इन्हें बुढ़ापे की निशानी या मामूली समस्या समझकर इग्नोर न करें क्योंकि यह लिवर खराब होने की तरफ इशारा करती हैं। शरीर में ओएस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ जाने के कारण नीली रेखाएं बढ़ जाती है। ऐसे में आपको समज जाना चाहिए कि लिवर ठीक से काम नहीं कर रहा। 

PunjabKesari

त्वचा में खुजली

वैसे तो त्वचा में खुजलीएक आम समस्या हैं लेकिन यह गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकती है। इसलिए इसे नजरअंदाज न करें। दरअसल, लिवर में खराबी होने के कारण इसमें बनने वाला बाइल जूस आपके खून में घुलने लगता है। ये बाइल जूस जब स्किन के नीचे जमने लगता है तो खुजली की समस्या देखने को मिलती है। 

PunjabKesari

मुंह से बदबू की समस्या

अगर आपकी सांस व मुंह से बदबू आती है तो इसे किसी और बात के साथ जोड़कर न देखे और न ही इग्नोर करें क्योंकि मुंह से आने वाली बदबू लिवर की समस्या का भी संकेत हो सकती है। आपको सुनने में हैरानी हो रही होगी लेकिन लिवर सिरोसिस समस्या होने पर खून में मौजूद डाईमिथाइल सल्फाइड के कारण सांसों से फलों जैसी खुश्बू आने लगती है।

 

 खून बहने पर न रूकना 

अगर मामूली सी चोट लगने पर भी शरीर से ज्यादा खून निकलने लगता है तो यह संकेत कमजोर लिवर की तरफ इशारा करता है। दरअसल, हमारा लिवर एक ऐसा प्रोटीन बनाता है जो खून को जमाने में मदद करता है। जब लिवर खराब होता है तो शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है, इसलिए इस बात को इग्नोर न करते हुए तुरंत लिवर टेस्ट करवाए। 

 

चेहरे पर दाग-धब्बे और मुंहासे

चेहरे पर अचानक भूरे या काले रंग के दाने या दाग-धब्बे नजर आने लगे तो इसे अपनी ब्यूटी प्रॉब्लम से न जोड़कर देखे क्योंकि जब हमारे शरीर को कोई हिस्सा खराब या कमजोर पड़ जाता है तो उसका सीधा कर चेहरे पर नजर आता है। ऐसे ही जब आपका लिवर ठीक से काम नहीं करता तो इसमें ओएस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ने लगती है जिस कारण शरीर में टायरोनेज नाम का तत्व बढ़ जाता है। इस तत्व के बढ़ने से चेहरे पर दाग-धब्बे व छोटे-छोटे दाने निकल आते हैं। 

PunjabKesari

हथेलियां लाल पड़ना 

कई बार हाथों की हथेलियां लाल पड़ जाती हैं जिसे हम खून से जोड़कर देखते है लेकिन आपको बता दे कि अगर हाथों की हथेलियां लाल या उनमें जलन व खुजली रहती है तो ये लीवर डैमेज की तरफ इशारा करती हैं। दरअसल, जब खून में हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं तब इस तरह का संकेत देखने को मिलता है। ऐसे में देरी न करते हुए तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करें। 


PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News