23 OCTFRIDAY2020 5:56:25 AM
Nari

172 किलो वजन और कैंसर-डायबिटीज जैसी कईं बीमारियों से ग्रसित महिला ने दी कोरोना को मात

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 06 Oct, 2020 07:21 PM
172 किलो वजन और कैंसर-डायबिटीज जैसी कईं बीमारियों से ग्रसित महिला ने दी कोरोना को मात

आज कल लोग अगर किसी भी बीमारी से डर रहे हैं तो वह है कोरोना वायरस। इस कोरोना काल में ऐसी बहुत सारी खबरें आ रही हैं कि कोरोना उन रोगियों के लिए ज्यादा खतरनाक है जिन्हें शुगर है या कोई अन्य बीमारी है। लेकिन वहीं हाल ही में एक ऐसा केस सामने आया है जिसे सुन आप भी हैरान हो जाएंगे। दरअसल अगर आपको कहा जाए कि मोटापे, कैंसर, डायबिटीज़ से ग्रस्त व्यक्ति कोरोना की चपेट में आ जाए तो आपको भी लगेगा की शायद उसका बचना मुश्किल हो जाए लेकिन मुंबई की 62 साल की महिला ने कोरोना को मात देकर वापिस जिंदगी को जीता है।

PunjabKesari

172 किलो की महिला ने कोरोना को दी मात

इतना ही नहीं महिला का वजन 172 किलो है और डॉक्टर भी इसे देख हैरान रह गए हैं। इतनी बीमारियों और इतना वजन होते भी जिस महिला ने कोरोना को मात दी है उसका नाम मेहनाज़ लोखंडवाला का है। इस पर वह कहती हैं,' अस्पताल , दवा, डॉक्टर और ऊपर वाले का ही हाथ है। पूरी दुनिया ही मोहब्बत, प्यार और दुआएं, ये सब हमें जिताता है। मैं हराऊंगी लेकिन कोरोना मुझसे नहीं जीतेगा।'

इन बीमारियों से ग्रस्त है महिला

कोरोना के साथ साथ महिला को कैंसर, डायबिटीज़, अस्थमा जैसी कई गंभीर बीमारियां है लेकिन फिर भी महिला ने हार नहीं मानी और पूरे हौसले के साथ उन्होंने कोरोना को मात दी। हालांकि इतनी बीमारियों में उनका बचना बहुत ही मुश्किल था। 

मुश्किल हालातों में किया गया था भर्ती 

PunjabKesari

वहीं इस पर डॉ गौतम भंसाली का कहना है 'बॉम्बे हॉस्पिटल में रात दो बजे उन्हें एडमिट किया गया। उनका ऑक्सीजन लेवल  82-84 पर चल रहा था। वहीं कंडीशन बिल्कुल भी सही नहीं थी। कैंसर, डायबिटीज़, हायपरटेंशन, अस्थमा जैसी बीमारियां हैं। वजन 172 किलो है और शॉर्ट नेक होने के कारण वेंटिलेटर पर डालना भी मुश्किल था। इन मुश्किल हालात में भी उन्हें भर्ती किया गया। फिर अंत में BiPap मशीन पर डालना पड़ा।'

मैनें जो गलती की वो तुम मत करना 

PunjabKesari

हालांकि महिला ने लोगों को एक नसीहत भी दी है और कहा ,' वह अगर वक्त पर आतीं तो जल्दी ठीक हो जाती। इसिलए आप लोग 'ये गलती बिल्कुल मत करना। मैंने गलती की थी और दो दिन नहीं अस्पताल नहीं आई। अगर मैं दो दिन पहले आ जाती तो जल्दी ठीक हो जाती। आप प्लीज़ अपने डॉक्टर की सुनिए।'

Related News