20 OCTSUNDAY2019 4:37:04 AM
Life Style

एक्ट्रेस की खूबसूरती का दीवाना था बॉलीवुड, आखिर वक्त ठेले से शमशान पहुंची थी लाश

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 08 Sep, 2019 06:06 PM
एक्ट्रेस की खूबसूरती का दीवाना था बॉलीवुड, आखिर वक्त ठेले से शमशान पहुंची थी लाश

भले ही लोग यंग एक्ट्रेसेज को बेहद पसंद करते हो लेकिन पुराने जमाने की हीरोइनें आज भी अपनी एक्टिंग व खूबसूरती से लाखों दिलों पर राज करती हैं। इन्हीं में से एक थी विमी। फिल्म 'हमराज' से रातों-रात स्टार बनी विमी का जन्म पंजाब के जालंधर में हुआ।


फिल्मों में आने से पहले शादीशुदा थी विमी

विम्मी को एक्ट्रेस बनाने का श्रेय म्यूजिक डायरेक्टर रवि को जाता है जिन्होंने उन्हें मुंबई बुलाया। उस वक्त विम्मी शादीशुदा और दो बच्चों की मां थी। विमी इतनी खूबसूरत थी कि शादीशुदा होने पर भी उनके करियर पर कोई असर नहीं पड़ा।

PunjabKesari

रवि ने विम्मी की मुलाकात डायरेक्टर बी.आर चोपड़ा से करवाई और उन्हें हमराज फिल्म के लिए बतौर एक्ट्रेस साइन कर लिया गया। यह फिल्म इतनी हिट हुई कि विमी को करीब 10 फिल्मों में काम करने का मौका मिला। विमी का करियर अच्छा चल रहा था कि तभी उनके पति ने रूकावट डालनी शुरू कर दी।

बेहद दर्दभरी रही पर्सनल लाइफ

खबरों के मुताबिक, विमी के पति उन्हें काफी प्रताड़ित करते थे। यहां तक की विमी कौन सी फिल्म में काम करेगी यह भी उनके पति ही तय करते थे। पति के कारण उनका स्टारडम कम होने लगा। इसी वजह से विमी पति से अलग रहने लगी। इसका असर उनके करियर पर पड़ा। विमी को फिल्में मिलनी बंद हो गई। काम ना मिलने की वजह से वह आर्थिकी तंगी का शिकार हो गई। पैसे ना होने की वजह से विमी को अपना बंगला भी छोड़ना पड़ा।

पति के कारण खत्म हुआ करियर

डिप्रेशन व करियर खत्म होने की वजह से विमी ने खुद पर ध्यान देना छोड़ दिया। वह काफी बीमार रहने लगी। उनके पास इलाज के लिए भी पैसे नहीं थे। जिंदगी के आखिरी दिनों में वे मुंबई के नानावटी अस्पताल के जनरल वॉर्ड में भर्ती रहीं।

PunjabKesari

आखिरी वक्त में इलाज के लिए नहीं थे पैसे

22 अगस्त 1977 को विमी इस दुनिया को अलविदा कह गई लेकिन आखिरी वक्त में उन्हें कंधा देने वाला भी कोई नहीं था। कहा जाता है कि उनकी लाश को एक चायवाले के ठेले पर रखकर श्मशान घाट ले जाया गया था। उनकी अंतिम यात्रा में बस चार-पांच लोग ही थे।
 

Related News