04 JULSATURDAY2020 8:36:03 AM
Life Style

चाय भी बनाई और ड्राइवर भी बने, पिता चाहे सुपरस्टार लेकिन बेटे ने की काम के लिए बेहद स्ट्रगल

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 03 Jun, 2020 03:28 PM
चाय भी बनाई और ड्राइवर भी बने, पिता चाहे सुपरस्टार लेकिन बेटे ने की काम के लिए बेहद स्ट्रगल

फिल्म इंडस्ट्री में ब्रेक के लिए लोग सालों तक मेहनत करते हैं, तब जाकर उनकी किस्मत का सितारा चमकता है। कहा जाता है कि नॉन फिल्मी ब्रैकग्राउट वालो को इंडस्ट्री में स्ट्रगल करना पड़ता है जबकि स्टार किड्स को आसानी से ब्रेक मिलता हैं? भई, ऐसा कुछ नहीं है स्टार किड्स को आसानी ब्रेक तो मिल जाता है लेकिन उन्हें भी खुद को साबित करने के लिए कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ता हैं जिसका अंदाजा आप बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक के करियर के शुरूआती दिनों से लगा सकते है... 

 

जी हां, कहने तो अभिषेक बॉलीवुड के सुपर-डुपर अमिताभ बच्चन और सुपरस्टार जया बच्चन के बेटे अभिषेक हैं लेकिन उन्हें भी अपनी जिंदगी में काफी स्ट्रगल करना पड़ा है जिसका जिक्र उन्होंने खुद एक इंटरव्यू में किया। आपको जानकर हैरानी होगी कि फिल्मों में एंट्री से पहले अभिषेक बच्चन ड्राइवर से लेकर चाय बनाने और साफ सफाई करने तक का काम तक कर चुके है। यहां तक की एक फिल्म एक्टर के ड्राइवर तक रह चुके हैं। 

Did you know Abhishek Bachchan once worked as Arshad Warsi's ...

एक रिपोर्ट की मानें तो 2010 में दिए एक इंटरव्यू में अभिषेक बच्चन ने बताया था कि उन्हें पहली फिल्म के लिए 2 साल काफी मशक्कत करनी पड़ी। फिल्म में पहला ब्रेक पाने के लिए वो प्रोडक्शन असिस्टेंट के तौर पर काम कर चुके है। इस दौरान उन्होंने कई ऐसे काम किए जो सुनने थोड़े अजीब हैं लेकिन यहीं हकीकत रह चुकी है। रिपोर्ट के मुताबिक, अभिषेक ने फिल्में मिलने से पहले प्रोडक्शन बॉय के तौर पर काम करता था, लोगों के लिए चाय बनाते और स्टूडियो की फर्श साफ करते थे। इतना ही नहीं, मैंने कुछ दिनों तक एक्टर अरशद वारसी के ड्राइवर के रूप में भी काम किया।'

Abhishek Bachchan rings in his 44th birthday with Aishwarya Rai ...

बता दें कि इतनी मुशक्कत के बाद अभिषेक को 2000 में करीना कपूर के साथ फिल्म 'रिफ्यूजी' में पहला ब्रेक मिला। मगर पहली फिल्म खास कमाल नहीं जमा पाई। इसके बाद उनकी एक बाद एक फ्लॉप फिल्म आईं, उस वक्त उनका घर से निकलने का मन नहीं करता था। अभिषेक ने बताया कि  मैं शीशे पर अपने लिए लिखे गए खराब रिव्यूज को चिपका देता था और उन चीजों पर काम करता था, जिनकी क्रिटिक्स ने आलोचना की थी।'

Abhishek Bachchan (@juniorbachchan) | Twitter

इस तरह कुछ सालों की मेहनत के बाद अभिषेक को भी बतौर एक्टर पहचाना जाने लगे। हालांकि, अभी वो उन्हें वो सक्सेस हासिल नहीं हुई जो उन्हें पिता अमिताभ बच्चन को मिली हुई है। मगर एक बात है कि अभिषेक ने सक्सेस पाने के लिए मुशक्कत काफी की है।

Related News