23 OCTWEDNESDAY2019 5:15:54 AM
Life Style

एक्ट्रेस नहीं ऐसी लाइफ जीना चाहती थी रेखा, मजबूरी में चुना यह करियर

  • Edited By Priya dhir,
  • Updated: 10 Oct, 2019 10:11 AM
एक्ट्रेस नहीं ऐसी लाइफ जीना चाहती थी रेखा, मजबूरी में चुना यह करियर

बॉलीवुड की एवरग्रीन एक्ट्रेस रेखा ने भले ही  64वें पड़ाव पर कदम रख लिया हो लेकिन उनकी खूबसूरती से उनकी उम्र का अंदाजा लगाना काफी मुश्किल है। उनका बेफिक्र अंदाज और जिंदादिली अब भी बरकरार है। रेखा काफी समय से फिल्मों से दूर हैं लेकिन इवेंट में आए दिन स्पॉट हो ही जाती है। इवेंट में उनकी मौजूदगी सुर्खियां बन जाती है। अपनी खूबसूरती के अलावा रेखा अक्सर अपनी कॉन्ट्रोवर्सी को लेकर लाइमलाइट में रहती है। चलिए जन्मदिन के मौके पर हम आपको रेखा से जुड़ी कुछ बातें बताते हैं।

 

13 साल की उम्र में शुरू किया करियर

रेखा ने अपने करियर की शुरुआत की महज 13 साल से। एक छोटे से किरदार से उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा।  एक चैट शो में रेखा ने कहा था कि मैनें अपने करियर की शुरुआत जरूर कर थी लेकिन मैं उस समय काम नहीं करना चाहती थी। घर के हालात को देखते हुए उन्हें मजबूरी में यह फैसला लेना पड़ा। वही रेखा के पिता ने उन्हें कभी नहीं अपनाया। रेखा के पिता बहुत बड़े सुपरस्टार थे। एक इंटरव्यू में रेखा ने अपने पिता के बारे में कहा था कि जब भी मैं father शब्द सुनती हूं तो मुझे चर्च के फादर याद आते है। जब उनसे पूछा जाता कि क्या आपको कभी पिता की कमी नहीं खलती तो इसपर रेखा ने कहा जिस चीज को आपने कभी महसूस नहीं किया तो उसकी कमी आपको क्या खलेगी।

PunjabKesari

रंग और फिगर को लेकर उड़ा मजाक

रेखा ने अपने करियर की शुरूआत की तेलगू फिल्मों से लेकिन उन्हें पहचान मिली हिंदी सिनेमा से। जब उन्होंने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा तो उन्हें हमेशा यह कहा गया कि यह कैसी सांवली और मोटी सी लड़की है। लोगों के तानों से तंग आकर रेखा ने खुद को बदला और इंडस्ट्री में अलग पहचान बनाई।

15 साल की उम्र में दिया किसिंग सीन

रेखा ने अपनी बायोग्राफी में अपनी जिंदगी का एक दर्दनाक वाकया बयां किया है। दरअसल, 15 साल की उम्र में रेखा फिल्‍म 'अनजाना सफर' की शूटिंग कर रही थी। रेखा एक रोमांटिक गाने के लिए सेट पर पहुंची। जैसे ही डायरेक्‍टर ने एक्‍शन बोला एक्टर बिस्‍वजीत ने उन्‍हें होठों पर किस करना शुरू कर दिया। यह किसिंग सीन लगातार 5 मिनट तक चला, कैमरा रोल होता रहा और डायरेक्‍टर ने कट नहीं बोला। वहां मौजूद यूनिट के सदस्‍य सीटियां मार रहे थे। रेखा इसके खिलाफ आवाज उठाना चाहती थीं लेकिन अंजाम के डर से वे चुप रहीं। यह सीन काफी समय तक सुर्खियों में बना रहा। इस सीन पर सेंसर बोर्ड ने कैंची चलानी की कोशिश की थी। विवाद इतना बढ़ गया था कि अमेरिका की 'लाइफ मैग्‍जीन' ने इसपर कवर स्‍टोरी छापी थी जिसका टाइटल था- 'द किसिंग क्रायसिस ऑफ इंडिया'

लवलाइफ को लेकर भी रही चर्चा में...

रेखा अक्सर अपनी लवलाइफ को लेकर भी चर्चा में रहती है। रेखा ने विनोद मेहरा से शादी की थी लेकिन विनोद की मां को उनका यह रिश्ता मंजूर नहीं था। शादी के बाद जब पहली बार विनोद और रेखा घर गए  तो उनकी सास बेहद गुस्‍सा थी। जैसे ही रेखा उनका आशीर्वाद लेने को झुकीं उनकी सास ने उन्‍हें ढकेल दिया था। उन्‍होंने रेखा को मारने के लिए चप्‍पल भी निकाली और घर में आने से मना कर दिया।

PunjabKesari

रेखा ने बिजनेसमैन मुकेश अग्रवाल से भी शादी की थी लेकिन शादी के एक साल बाद ही उनके पति ने सुसाइड कर लिया। बाद में मुकेश के परिवार और फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने रेखा को कोसा था जिनमें कई बड़े नाम शामिल है लेकिन रेखा आज भी सिंदूर लगाती है। रेखा के माथे का सिंदूर आज भी राज बना हुआ है। इस पर कई सालों से कंट्रोवर्सी बरकरार है।

PunjabKesari

कहा जाता है कि रेखा संजय दत्त के नाम का सिंदूर लगाती है वही कई लोग इसे अमिताभ से जोड़कर भी देखते हैं। रेखा के सिंदूर  पर अभिनेता पुनीत इस्‍सार की पत्‍नी ने कहा था कि रेखा, अमिताभ बच्‍चन के लिए सिंदूर लगाती हैं जबकि रेखा ने एक अवार्ड फंक्‍शन में कहा था कि वह जिस शहर से है, वहां सिंदूर लगाने का फैशन है। साथ ही उन्होंने कहा था मुझे लोगों की प्रतिक्रियाओं से फर्क नहीं पड़ता. मुझे लगता है कि सिंदूर मुझ पर फबता है।

PunjabKesari

विवादों से रहा पुराना नाता

संजय और अमिताभ के अलावा भी रेखा का नाम कई स्टार्स के साथ जुड़ा। बता दें कि रेखा एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थी। वह साधारण लड़की की तरह जिंदगी जीना चाहती थी। वह चाहती थी उनकी भी शादी हो और आम लड़की की तरह वह भी अपने बच्चों की परवरिश करें। एक इंटरव्यू में रेखा ने ये बात कही थी कि वे बहुत सारे बच्चे चाहती हैं। लेकिन उनका शादीशुदा जीवन ज्यादा लंबा न चलने की वजह से ऐसा संभव नहीं हो पाया। रेखा ने कहा था "मैं अपने घर में प्राइवेसी एन्जॉय करती हूं लेकिन घर का जो खालीपन है उसे चाहती हूं कि मेरे बच्चे पूरा भर दें। जरा सोचो, बच्चे सीढ़ियों में पर चढ़ रहे हों। मैं ये नहीं चाहती कि मेरे एक या दो बच्चों हों मुझे  कम से कम 12 बच्चे चाहिए। लेकिन मैं शादी के बिना बच्चा नहीं चाहती। हो सकता है कि इसके पीछे पर्सनल रीजन हैं क्योंकि मैंने मेरी मां को बिन पिता से बच्चों की परवरिश करते देखा है। इसी वजह से मैं अकेले कोई बच्चा नहीं चाहती। बात अगर इस दौर के बच्चों की करें तो आजकल के बच्चे काफी सेल्फिश और डिमांडिंग होते हैं।"

से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News