20 OCTSUNDAY2019 1:10:13 AM
Life Style

700 रू. कमाने वाली Nita यूं बनी अंबानी फैमिली की बहू, शादी के लिए मुकेश को करवाया था बस का सफर

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 03 Apr, 2019 09:48 AM
700 रू. कमाने वाली Nita यूं बनी अंबानी फैमिली की बहू, शादी के लिए मुकेश को करवाया था बस का सफर

देश के सबसे अमीर आदमी की पत्नी नीता अंबानी हमेशा अपने लाइफस्टाइल और स्टाइल को लेकर चर्चा में रहती है। नीता अंबानी की लग्जरी लाइफ के बारे में तो सब जानते है लेकिन शादी से पहले उनकी लाइफ कैसी थी इसके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते। आज हम आपको बताएंगे कि कैसे नीता अंबानी परिवार की बड़ी बहू बनीं। 

 

दरअसल नीता एक मिडल क्लास फैमिली से ताल्लुक रखती थीं और अपना खर्चा चलाने के लिए 800 रुपए महीने की सैलरी पर एक स्कूल में पढ़ाती थीं। उनके पिता बिड़ला ग्रुप में काम करते थे। उन्हीं दिनों में बिड़ला परिवार के निजी आवास बिरला मातोश्री में एक प्रोग्राम रखा गया, जिसमें 20 वर्ष की नीता ने भी भरतनाट्यम किया था। नीता का डांस देखकर मुकेश के पिता काफी इम्प्रेस हुए।  उन्हें महसूस किया कि नीता खूबसूरत होने के साथ संस्कारी भी है। इसी समय उन्होंने नीता को अपनी बहू के रूप में पसंद कर लिया। 

PunjabKesari

उन्होंने शो के Organizers से नीता का फोन नंबर लिया। घर पहुंचते ही उन्होंने सबसे पहले नीता को फोन किया लेकिन नीता ने किसी का मजाक समझकर अंबानी का फोन काट दिया। अंबानी ने उन्हें दोबारा फोन किया तो नीता ने उन्हें कहा कि अगर आप धीरूभाई हैं तो मैं एलिजाबेथ टेलर हूं और फोन काट दिया।   

 

तीसरी बार नीता के पिता ने फोन उठाया। नीता के पिता ने धीरूभाई अंबानी की आवाज पहचानकर नीता को उनसे बात करने के लिए कहा। धीरूभाई ने नीता को अपने ऑफिस बुलाया। जहां उन्होंने नीता की पढ़ाई, hobbies के बारे में पूछा। उन्होंने नीता आने के लिए इन्वॉइट किया।

PunjabKesari
 
जब नीता उनसे मिलने उनके घर पहुंची तो खुद मुकेश अंबानी ने घर का दरवाजा खोला। यह दोनों की पहली मुलाकात थी। दोनों ने एक दूसरे के साथ समय बिताने की ख्वाहिश जाहिर की। 


 
समय के साथ नीता और मुकेश अच्छे दोस्त बन गए। मुकेश अंबानी नीता को अपनी महंगी कार से लेने आते थे। एक बार नीता और मुकेश कार से मुंबई के पेडर रोड पर सफर कर रहे थे। मुकेश की कार एक सिग्नल पर रुकी। तभी मुकेश ने मौका पाकर नीता को प्रपोज कर दिया। मुकेश ने नीता से पूछा, क्या तुम मुझसे शादी करोगी। मुकेश के इस सवाल पर नीता ने उन्हें गाड़ी चलाने के लिए कहा। अब तक सिगन्ल  ग्रीन हो चुका था लेकिन मुकेश वहीं रुके रहे। मुकेश ने नीता से कहा जब तक तुम जवाब नहीं दोगी तब तक मैं गाड़ी नहीं चलाऊंगा। जिस पर नीता ने कहा, यस आई विल...आई विल...  

 

प्रपोजल के बाद नीता ने थोड़ी दूरी पर गाड़ी रुकवाई और मुकेश को गाड़ी से बाहर निकलने को कहा। नीता ने मुकेश से कहा अगर आप वाकई मुझसे प्यार करते हैं तो आपको मेरे साथ मेरी तरह बस में सफर करना होगा। मुकेश ने तुरंत हां कह दिया और दोनों बस पर सबसे आगे वाली सीट पर बैठकर जुहू बीच तक साथ गए। इससे नीता काफी इंप्रेस हुईं और मुकेश को अपना दिल दे बैठी। 

 

एक इंटरव्यू में नीता अंबानी ने बताया था कि उन्हें बच्चों को पढ़ाने का बेहद शौक था। उन्हें डर था कि शादी के बाद शायद उनका ये शौक उनसे छिन न जाए। उन्होंने मुकेश के सामने शर्त रख दी कि अगर वो उन्हें शादी के बाद भी उन्हें स्कूल में पढ़ाने की इजाजत देते हैं तभी वो शादी के लिए हां करेंगी। मुकेश अंबानी के हां करने के बाद ही नीता ने शादी के लिए हामी भर दी और अमीर खानदान की बहू बनने के बाद भी नीता ने प्राइवेट स्कूल में पढ़ाना जारी रखा। 8 मार्च 1984 को नीता और मुकेश शादी के बंधन में बंध गए।

Related News