24 OCTTHURSDAY2019 5:07:06 AM
Life Style

मदर्स डे: 100 साल की मां आज भी कर रही है 82 साल के बेटे की देखभाल, दिल छू लेगी इनकी कहानी

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 12 May, 2019 02:17 PM
मदर्स डे: 100 साल की मां आज भी कर रही है 82 साल के बेटे की देखभाल, दिल छू लेगी इनकी कहानी

बच्चे के जन्म के बाद से ही मां की जिम्मेदारियां शुरू हो जाती है। वह अपने बच्चे की ही हर छोटी-बड़ी जरूरत का ख्याल रखती हैं। भले ही बच्चे कितने ही बड़े क्यों ना हो जाए लेकिन मां को हमेशा उसकी चिंता लगी रहती है। हालांकि एक वक्त के बाद बच्चा अपनी देखभाल खुद ही करने लग जाता है लेकिन आज हम आपको एक ऐसी मां के बारे में बताने जा रहे हैं, जो 82 साल के बेटे की देखभाल करती हैं। जी हां, 100 साल की यह अपने 82 साल के बेटे की न सिर्फ देखभाल करती हैं बल्कि उसे हिदायतें भी देती हैं।

 

100 साल की मां 82 साल के बेटे की कर ही देखभाल

100 वर्षीय एडा कीटिंग लीवरपूल इंग्लैंड की रहने वाली है और उनके 4 बच्चे हैं, जिसमें से टॉम कीटिंग सबसे बड़ा है। बात 2016 की है जब टॉम एडिशनल केयर और सपोर्ट के लिए लिवरपुल के मॉस व्यू केयरहोम चले गए। टॉम ने कभी शादी नहीं की और वो हमेशा से ही अपनी मां के साथ रहते आ रहे हैं। जब उनकी मां को इस बात का पता चला तो उन्हें इस बात की चिंता सताने लगी कि वहां उसका ख्याल कौन रखेगा।

PunjabKesari

फिर क्या था एडा खुद अपने बेटे की देखभाल करने के लिए उसके साथ रहने चली गई। बता दें कि एडा पिछले 3 साल से अपने बेटे के साथ रह रही हैं और उसकी देखभाल कर रही हैं। एडा नर्स है और केयर होम में वो अपने बेटे की देखभाल के साथ स्टाफ की भी मदद करती हैं। मां-बेटे की यह जोड़ी ना सिर्फ पूरा दिन साथ में बिताते हैं बल्कि एक-साथ खेलते भी हैं। सुबह टॉम के उठने से पहले ही टॉम के उठने से पहले ही एडा उसका नाश्ता तैयार करके रख देती हैं। इतना ही नहीं, वह उसे रात को गुडनाइट कहने के बाद ही सोने जाती हैं। एडा बताती है कि जब वो हेयर ड्रेस के पास जाती हैं तो टॉम उनका इंतजार करते हैं और जैसे ही वो लौटकर आती हैं तो टॉम उन्हें लिपट जाता है।

PunjabKesari

खास बात तो यह है कि एडा आज भी अपने बेटे को हिदायतें देती हैं। एक इंटरव्यू में एडा ने कहा, 'आप कैसे भूल सकते हैं हो कि आप मां हो।, मैं यह बात कभी नहीं भूलती कि मैं मां हूं और अक्सर टॉम को हिदायत देती रहती हूं। एडा के पोते-पोतियां उनसे मिलने के लिए केयरहोम आते हैं।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News