01 JUNMONDAY2020 12:29:20 PM
Life Style

कोरोना वायरस से जुड़े 10 पॉजिटिव इफेक्ट

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 10 Apr, 2020 07:44 PM
कोरोना वायरस से जुड़े 10 पॉजिटिव इफेक्ट

कोरोना वायरस ने जहां पूरी दुनिया को चिंता में डाल रखा है वहीं इसकी वजह से कुछ अच्छी बातें भी हुई है। कोरोना वायरस को रोकने के लिए जब से लॉकडाउन किया गया है पूरे देश की आबोहवा ही बदल गई हैं। चलिए आपको बताते हैं कि कोरोना की वजह से क्या-क्या अच्छी बातें हुई है।

 

थमे पहिए तो साफ हुई हवा

देशभर में लॉकडाउन का असर वातावरण पर दिखने लगा है, जिसकी वजह से वायु प्रदूषण में काफी कमी देखने को मिली है। दरअसल, कारखानों, कार, स्कूटर, मोटरबाइक्स के कारण वायु प्रदूषण काफी बढ़ गया था लेकिन सूबकुछ बंद होने की वजह से प्रदूषण भी कम हो गया है। इसका असर आप वातावरण में साफ देख सकते हैं।

PunjabKesari

वॉटर पॉल्यूशन भी हुआ कम

लॉकडाउन की वजह से पानी के प्रदूषण (Water pollution) भी काफी कम हो गया है। यही नहीं, गंगा, नर्मदा जैसी नदियों का पानी भी निर्मल और शुद्ध हो गया है।

देश की गंदगी भी हुई साफ

लोगों के घरों में रहने की वजह से देशभर की सफाई भी हो रही है। लोग रोजाना सड़कों पर यूं ही सामान फेंक देते हैं लेकिन जब से लोग घरों में बंद है, देशभर की सड़के, नाले व नुक्कड़ भी साफ दिखाई दे रहे हैं। लॉकडाउन की वजह से औद्योगिक कचरे की डंपिंग में कमी आई है।

हाइजीन की आदत

इसकी वजह से लोग ना सिर्फ अपना काम खुद कर रहे हैं बल्कि वो पहले से ज्यादा हाइजीन भी हो गए हैं। दरअसल, कोरोना से बचने के लिए बार-बार हाथ धोने और साफ-सफाई रखने के लिए कहा जा रहा है, जिसकी वजह से लोग अपनी हाइजीन को लेकर ज्यादा सतर्क हो गए हैं।

PunjabKesari

फैमिली के साथ क्लाविटी टाइम

बिजी शेड्यूल के चलते जहां लोग खुद के लिए भी समय नहीं निकाल पाते थे वहीं अब उन्हें परिवार के साथ ज्यादा समय बिताने का मौका मिल रहा है। ऐसे में लोगों के रिश्तों में काफी तनाव कम हो गया है और रिश्तों की बॉन्डिंग भी स्ट्रांग हो रही है।

टेररिस्ट अटैक का खतरा हुआ कम

ISIS ने हाल ही में "अल-नबा" समाचार पत्र जारी किया, जिसमें 'शरिया निर्देशों' को जिहाद के लिए यूरोप की यात्रा के खिलाफ अपने सदस्यों को चेतावनी दी गई थी। इसमें सदस्यों को बीमार लोगों से दूर रहने की हिदायत दी गई है। साथ ही मास्क लगाने व हाथों को साफ रखने के लिए भी कहा गया।

प्रकृति ने दिखाए सुनहरे दृश्य

इस वायरस के वजह से लोगों को वो द्दश्य देखने को मिले, जिसकी वो कल्पना भी नहीं कर सकते थे। वायरस की वजह से हवा साफ हुई तो मुंबई की सड़कों पर मोर नाचने लगे, ओड़िसा बीच पर कछुआ का झुंड देखने को मिला। यही नहीं, डॉलफिन ने फिर की समुद्र से दोस्ती की।

PunjabKesari

नाइट्रोजन व कार्बन ऑक्साइड में भी कमी

रिसर्च के मुताबिक, पिछले कुछ समय से 90 से अधिक शहरों में वायु प्रदूषण का स्तर न्यूनतम पाया गया है। यही नहीं, फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने वाली नाइट्रोजन ऑक्साइड (एनओएक्स) का प्रदूषण भी काफी कम हो गया है, जो मुख्य रुप से वाहनों के चलने से होता है। वातावरण में नाइट्रोजन ऑक्साइड के स्तर में 51 प्रतिशत और कार्बन डाई ऑक्साइड में 32 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।

नकली मुद्रा का कारोबार बंद

सुरक्षा को देखते हुए लोग ऑनलाइन पेमेंट जैसे Google Pay, PhonePe, Paytm, Samsung Pay, Apple Pay आदि इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे सरकार को काफी फायदा हो रहा है। खरीद/बिक्री के इस संपर्क और कैशलेस तरीके से सरकार को नकली नोटों के खिलाफ लड़ाई में सहायता मिल रही है क्योंकि इससे कोई नकली नोट नहीं चला रहा।

शारीरिक, मानसिक सेहत पर बढ़ा ध्यान

बिजी लाइफस्टाइल के चलते लोह अपनी सेहत पर भी ध्यान नहीं दे पाते। मगर,  अब लोग घरों में रहकर खूब एक्सरसाइज, योग, ध्यान आदि कर रहे हैं। संभव है कि लॉकडाउन के दरम्यान की ये आदतें आगे भी बनी रह जाएं।

PunjabKesari

Related News