You are hereNari

सरोगेसी के जरिए बनने जा रहे हैं पेरेंट्स तो अभी जान लें ये बातें

सरोगेसी के जरिए बनने जा रहे हैं पेरेंट्स तो अभी जान लें ये बातें
Views:- Friday, July 14, 2017-12:57 PM

पेरेंटिंग:    हर मां-बाप का सपना होता है कि उनका अपना एक प्यारा सा बच्चा हो। कुछ कपल्स को तो यह सुख प्राप्त हो जाता है लेकिन आज भी बहुत से लोग ऐसे है जो लाख कोशिशों के बावजूद भी संतान के सुख से वंचित रह जाते हैं। हाल ही में सरोगेसी का चलन शुरू हुआ, जिसने सभी नि:संतान पेरेंट्स के दिलों में बच्चा पाने की तमन्ना जगा दी है। सरोगेसी एक ऐसा माध्यम है जिसके जरिए संतान का सुख भोगा जा सकता है। सरोगेस का मतलब है बच्चे के जन्म तक किसी महिला की किराए पर कोख लेना। जो महिला दूसरे के बच्चे को जन्म देने के लिए तैयार होती है उसे सरोगेट मदर कहा जाता है। आज बहुत से कपल्स सरोगेसी के जरिए बच्चा पाना चाह रहे है लेकिन सरोगेसी से बच्चा पैदा करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है ताकि बाद में किसी तरह की कोई दिक्कत सामने न खड़ी हो जाएं। अगर आप भी सरोगेसी का फैसला लेने जा रहे है तो इन बातों पर गांठ बांध लें।    

 

1.  कठोर ना बनें

बहुत से लोग बच्चे का सुक न मिलने और निराशा हाथ लगने पर अधिक कठोर हो जाते है। अगर सरोगेसी का सहारा लेते है तो सरोगेट मदर पर निर्भर रहना का विचार उन्हें परेशान करने लगता है। ऐसे में कपल्स को चाहिए कि सरोगेसी का सहारा लेने से पहले अपने मन में चल रहे विचारों के सुलझा लें ताकि इससे किसी को कोई मुश्किल न हो। 

2. विनम्र ना बनें

माना कि सरोगेट मदर के जरिए आप पेरेंट्स बनने वाले है लेकिन उसे खुश करने के लिए ज्यादा विनम्र न बनें। इसके अलावा उसके प्रति ज्यादा शंका की भावना भी न रखें बल्कि नैचुरल और हेल्दी समीकरण बनाएं रखें। 

3. बच्चा आप जैसा हो जरूरी नहीं

कई पेरेंट्स सोचते है कि उनका बच्चा बिल्कुल नहीं की तरह हो। ऐसा जरूरी नहीं है कि सरोगेसी द्वारा जन्म लेने वाला बच्चा अपने पेरेंट्स की तरह हो।  बच्चा आखिर बच्चा है पेरेंट्स बनने की खुशी स्वीकार करें। 

4. फीड कराने की योजना 

अधिकतर कपल्स का फोकस बच बच्चा को जन्म देने पर होता है। उनके मन में दूर-दूर तक बच्चे को ब्रैस्टफीडिंग करवाने की बात नहीं आती है। अगर आप भी सरोगेसी का सहारा लेने जा रहे है तो बच्चे की ब्रैस्टफीडिंग की सलाह पहले ही किसी अच्छे डॉक्टर या एक्सपर्ट्स लें, ताकि आपको पता चल पाए कि आपके पास कौन-कौन से विकल्प है।