Twitter
You are hereNari

थायराइड के शुरुआती लक्षणों को पहचान कर शुरू करें इलाज

थायराइड के शुरुआती लक्षणों को पहचान कर शुरू करें इलाज
Views:- Friday, December 8, 2017-11:03 AM

थाइरोइड के लक्षण और उपचार : थाइराइड की समस्या आजकल आम सुनने को मिल रही है। थाइराइड गले में एंडोक्राइन ग्लैंड है जो तितली के आकार जैसी ग्रंथी होती है।यह थाइराक्सिन नामक हार्मोन बनाती है, इसके असंतुलन के कारण बॉडी की कार्यप्रणाली में बाधा आनी शुरू हो जाती है क्योंकि ग्रंथी शरीर में मेटाबॉलिज्म को संतुलित रखने का काम करती है। इस रोग में बहुत परेशानी होती है, वजन का एकदम से घटना या बढ़ाना,थकावट के अलावा और भी बहुत से लक्षणों से इसे पहचाना जा सकता है। थाइरोइड के लक्षणो को अगर शुरुआत में ही पहचान लिया जाए तो बढ़ रही परेशानी को समय पर कंट्रोल किया जा सकता है।

 

थाइराइड के लक्षण 
 

1. प्रतिरोधक क्षमता कमजोर
शरीर में प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने पर बिना दवाइयों के छोटे-छोटे रोगों से निजात पाना मुश्किल हो जाता है। थाइराइड में प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होनी शुरू हो जाती है। 
 

2. थकावट महसूस होना
आराम करने के बाद भी थकावट महसूस होना थाइराइड का लक्षण हो सकता है। इसमें शरीर की एनर्जी कम होने लगती है और काम करने में आलस आता है। 
 

3. बालों का झड़ना
थाइराइड होने पर बाल झड़ने लगते हैं कई बार को भौहों के बाल भी बहुत हल्के हो जाते हैं।
 

4. कब्ज की परेशानी
इसमें खाना आसानी से पचाने में भी परेशानी होती है। जिससे पेट से संबंधित परेशानियां भी आनी शुरू हो जाती हैं, कब्ज इस रोग में होने वाली आम दिक्कतों में से एक है। लगातार कब्ज हो रही है तो थाइराइड का चेकअप जरूर करवाएं। 
 

5. त्वचा का रूखापन 
थाइराइड होने पर त्वचा में रूखापन आना शुरू हो जाता है। इस परेशानी में स्किन के ऊपरी हिस्से के सैल्स डैमेज होने लगते हैं। 
 

6. हाथ-पैर ठंडे रहना 
इस समस्या में हाथ पैर ठंड़े रहने लगते हैं। शरीर का तापमान सामान्य होने पर भी हाथ-पैरों में ठंड़क महसूस होती है। 
 

7. वजन बढ़ना या घटना
किसी भी बीमारी से पहले शरीर संकेत देने शुरू कर देता है। इसमें वजन एकदम से घटना या बढ़ाना शुरू हो जाता है। 

 

थायराइड का रामबाण इलाज
थाइराइड रोग में डॉक्टरी इलाज करवाना बहुत जरूरी है लेकिन इसके साथ-साथ आप घरेलू उपाय से इसमें कॉफी फायदा मिलता है। प्याज खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत लाभकारी है। इसमें एंटी बैक्टिरियल,एंटी फंगल के अलावा और भी बहुत से जरूरी तत्व होते हैं। 
 

थाइराइड में इस तरह करें लाल प्याज का इस्तेमाल 
रात को सोने से पहले मध्यम आकार के लाल प्याज को लेकर दो हिस्सों में काट लें। इन कटे हुए हिस्सों को गर्दन में थाइराइड ग्लैंड (Thyroid Gland) के आसपास रगड़ें। इसे रात भर ऐसे ही रहने दें। रोजाना लगातार इसका इस्तेमाल करने से आराम मिलेगा। 

 


फैशन हाे या ब्यूटी टिप, महिलाअाें से जुड़ी हर जानकारी के लिए डाउलनाेड करें NARI APP