Twitter
You are hereNari

जानिए, उम्र के हिसाब से शिशु के लिए कौन-सा सप्लीमेंट हैं जरूरी

जानिए, उम्र के हिसाब से शिशु के लिए कौन-सा सप्लीमेंट हैं जरूरी
Views:- Thursday, February 8, 2018-11:53 AM

शादी के बाद मां बनना हर औरत के लिए सुखद अहसास होता है। बच्चे को जन्म देने के बाद अक्सर मां को उसके स्वस्थ की चिंता लगी रहती है खासकर जब पहला बच्चा हो। हर मां चाहती है उसके बच्चे का विकास सही से हो इसीलिए वह प्रैग्नेंसी के दौरान और डिलीवरी के बाद अपने खानपान का खास ख्याल रखती है। बच्चे को मां के दूध के साथ-साथ जरूरी सप्लीमेंट्स की भी जरूरत होती है लेकिन किस उम्र में बच्चे को कौन का सप्लीमेंट्स चाहिए इसके बारे में जानना बहुत जरूरी है। 

बच्चो के लिए जरूरी सप्लीमेंट्स 

विटामिन डी
अक्सर मां बनने के बाद महिलाओं में विटामिन-डी की कमी हो जाती है लेकिन हड्डियों के विकास और बीमारियों से बचने के लिए शरीर को इसकी जरूरत होती है। वैसे तो सूरज की किरणे विटामिन डी का अच्छा स्रोत है लेकिन शिशु के लिए यह हानिकारक हो सकती है। एेसे में ड्रॉपर की सहायता से बच्चे को विटामिन डी दें। जन्म के पहले 2 साल इसकी बहुत जरूरत होती है। 

आयरन 
PunjabKesari
वैसे तो मां के दूध में भरपूर आयरन पाया जाता है लेकिन कुछ महिलाओं को प्रैग्नेंसी में एनीमिया की शिकायत हो जाती है, जिससे शिशु को प्रयाप्त मात्रा में आयरन नहीं मिलता। वहीं, जब बच्चा चलने लगता है तो उसके शरीर को आयरन की अधिक जरूरत होती है। एेसे में बच्चे को हरी सब्जियां दें। इसके अलावा जो बच्चे जन्म से कमजोर होते है उन्हें दो-तीन साल तक आयरन सप्लीमेंट की आवश्यकता होती है।

डीएचए 
डीएचए ओमेगा-3 फैटी एसिड का ही एक रूप है। दिमागी विकासी और आंखों के लिए यह फायदेमंद है। मछली, हरी सब्जियां और मीट में यह पाया जाता है। शाकाहारी महिलाओं को इसकी जरूरत नहीं पड़ती। 

अन्य विटामिन्स
PunjabKesari
बच्चे के विकास के लिए शरीर को ढेर सारे विटामिन्स जैसे कि(विटामिन ए, विटामिन डी, विटामिन के, विटामिन ई और विटामिन बी12) की आवश्यकता होती है। बच्चे के जन्म के तुंरत बाद विटामिन डी की डोज दी जाती है ताकि उसके दिमाग में ब्लीडिंग न हो।

 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP