Twitter
You are hereNari

नवजात शिशु नहीं पड़ेगे बीमार, इन 8 तरीकों से रखें उनका खास ख्याल

नवजात शिशु नहीं पड़ेगे बीमार, इन 8 तरीकों से रखें उनका खास ख्याल
Views:- Wednesday, December 6, 2017-1:43 PM

हर उम्र के लोगों को सर्दी में अपना खास ध्यान रखते है लेकिन सर्दियों में नवजात शिशु को स्पेशल केयर की जरूरत होती है। नवजात शिशु को सर्दियों में चलने वाली ठंडी हवाओं से बीमार होने का खतरा सबसे ज्यादा होता है। ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि सर्दी में आप नवजात को ठंडी हवाओं, सर्दी, खांसी और जुकाम जैसी बीमारियों से बचा कर रखें। आज हम आपको बताएंगे कि किस तरह सर्दियों में नवजात की खास केयर से आप उन्हें इन प्रॉब्लम से बचा सकते है।
 

सर्दियों में नवजात शिशु की देखभाल
1.
सर्दियों में शिशु की त्वचा को रूखेपन से बचाने के लिए उनकी मालिश जैतून के तेल से करें। इससे बच्चे के रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के साथ खून का संचार भी अच्छे से होता है।

2. मालिश करने के तुरंत बाद शिशु को न नहलाएं। अधिक सर्दी होने पर शिशु को नहलाने की बजाए साफ तौलिए को हल्के गुनगुने पानी में भिगोकर बच्चे के शरीर को साफ कर दें।

3. सर्दियों में बच्चों को ज्यादा कपड़े पहनाने की बजाए मोटे और आरामदायक कपड़े पहनाए। सर्दी से बचाने के लिए नवजात को दस्ताने, जुराबे और टोपी जरूर पहना लें।

4. बच्चों को ऊन के कपड़े पहनाते समय सावधानी रखें। शिशु की त्वचा नाजुक होने के कारण ऊन से उसे रैशेज भी हो सकते है। शिशु को सूती कपड़ा पहनाने के बाद ही ऊनी कपड़ा पहनाए।

5. सर्दियों में शिशु के कमरे में हीटर चला कर रखें लेकिन उसे ज्यादा तेज न चलाएं। तापमान में अचानक बदलाव से भी शिशु बीमार हो सकता है।

6. सर्दियों में शिशु को निमोनिया, इंफेक्शन, जुकाम, बुखार और फ्लू का सबसे ज्यादा खतरा रहता है। इसलिए शिशु का समय-समय पर डॉक्टरी चेकअप करवाते रहें।

7. अगर किसी को भी वायरल फीवर, सर्दी-खांसी, जुकाम जैसी समस्या है, तो उसे शिशु के पास न आने दें।

8. शिशु की नैपी समय-समय पर बदलते रहें क्योंकि गीलेपन से संक्रमण फैल सकता है। इसके अलावा शिशु को 15-20 मिनट धूप में जरूर टहलाने लेकर जाएं।

फैशन हाे या ब्यूटी टिप, महिलाअाें से जुड़ी हर जानकारी के लिए डाउलनाेड करें NARI APP