Twitter
You are hereNariब्रैस्ट कैंसर न हो इसलिए यहां होती है ब्रैस्ट की पूजा
1 of 6Nextब्रैस्ट कैंसर न हो इसलिए यहां होती है ब्रैस्ट की पूजा
Views:- Tuesday, October 25, 2016-3:49 PM

दुनिया में बहुत से ऐसे मंदिर हैं जिनकी कुछ न कुछ खास वजह जरूर होती है। कहीं पर पशु-पक्षियों की पूजा होती है तो कहीं पर पत्थरों की लेकिन आपने शायद यह कभी नही सुना होगा की किसी मंदिर में ब्रैस्ट की पूजा होती है। 



जी हां जापान में दुनिया का यह एकमात्र मंदिर है। यहां पर भगवान की पूजा की बजाए स्तनों की पूजा की जाती हैं और इसी कारण यह जगह दुनिया भर में मशहूर है। यहां पर छिछिगमीसम की पूजा की जाती है। इस मंदिर में जहां भी नजर जाती है वहां सिर्फ ब्रेस्‍ट ही नजर आते हैं। यहां पर रूई और कपड़े से बने स्तनों से हर तरफ सजावट की हुई है। 



यहां पर ज्यादातर महिलाएं पूजा करने आती हैं क्योंकि माना जाता है कि इस यहां पूजा करने से सुरक्षित प्रेग्नेंसी और ब्रैस्ट कैंसर के खतरे से बचा जा सकता है।जब मन्नत पूरी हो जाती है तो महिलाएं यहां वापस आकर डमी ब्रेस्ट ही चढ़ाती हैं।
 

इसके पीछे एक कहानी है कि एक डॉक्टर ने अपनी मरीज जो ब्रैस्ट कैंसर की शिकार थी के लिए इस मंदिर में मन्नत मांगी और वो ठीक हो गई। इस लिए डॉक्टर ने यहां पर डमी ब्रैस्ट चढ़ाए थे। तब से यह प्रथा शुरू हो गई। इस मंदिर में फव्वारे और मूर्तियां का आकार भी स्तन के आकार का ही है।