Twitter
You are hereparenting

बच्चे का आईक्‍यू होगा तेज अगर प्रैग्नेंसी में ही रखेंगी इन चीजों पर ध्यान

बच्चे का आईक्‍यू होगा तेज अगर प्रैग्नेंसी में ही रखेंगी इन चीजों पर ध्यान
Views:- Wednesday, October 11, 2017-5:37 PM

जब कोई औरत मां बनने वाली होती है तो वह अपने होने वाले बच्चे के लिए पहले ही कुछ सपने सजाने लगती है। अपने बच्चे की परवरिश से लेकर उसकी सेहत तक की प्लानिंग करने लगती है। इसके अलावा हर मां चाहती है कि उसका बच्चा दिमागी रूप से तेज और एक्टिंव हो। इसलिए वह अपने प्रैग्नेंसी पीरियड में हर उस बात का ध्यान रखती है, जिससे उसके बच्चा के शारीरिक और मानसिक विकास तेज हो सकें। अगर आप भी चाहती है कि आपके होने वाले बच्चे का आईक्यू लेवल तेज हो तो हम आपको कुछ टिप्स देंगे जिनकी मदद से आप अपने बच्चों का गर्भ में ही आईक्यू लेवल तेज बना सकती है। 

PunjabKesari


- आवाज का अहसास
कहते है कि 23वें हफ्ते में बच्चा गर्भ में ही कुछ आवाजों का अहसास कर लेता है। खासकर अपनी मां की आवाज का वह रिस्पांस देने लगता है। ऐसे में प्रैग्नेंस महिला को चाहिए कि वह अच्छी किताबें पढ़ना और सुकून भरे गीत व कविताएं पढ़े, ताकि उसकी आवाज बच्चे तक पहुंच सकें और उसका आईक्यू लेवल तेज हो। 

- खानपान का खास ध्यान 

PunjabKesari
खाने में ओमेगा 3 युक्त खाद्य पदार्थ, ड्राई फ्रूट्स और फलों का सेवन करें। इसके अलावा हरी पत्तेदार सब्जियों को आहार में शामिल करें। खाने का टाइम भी सही रखें और समय-समय पर खाना खाते रहें। 

- पोजिशन पर रखें ख्याल 
बच्चा गर्भ में ही मां की छुअन पहचान जाता है। ऐसे गर्भवती महिला तो कोशिश करनी चाहिए कि गर्भ पर किसी भी सीधी रोशनी को न पड़ने दें। इसके अलावा सोते समय अपनी पोजिशन का खास ख्याल रखें। उठने-बैठने का सही तरीका इस्तेमाल करें क्योंकि इसका असर बच्चे का मानसिक विकास पर पड़ता है। 

- बुरी आदतों कहें अलविदा
प्रैग्नेंसी को दौरान अपनी सभी बुरी आदतों को अलविदा कह दें। स्मोकिंग और शराब की लत को छोड़ दें क्योंकि इसका असर बच्चे के दिमाग पर पड़ता है। अगर आप प्रैग्नेंसी के दौरान इन चीजों से परहेज रखेंगी तो बच्चे का आईक्यू लेवल भी ठीक रहेगा। 

- तनाव से रहें दूर 

PunjabKesari
प्रैग्नेंसी के दौरान तनाव को अपने आस-पास भी न भटकने दें क्योंकि मां का तनाव बच्चे की सेहत पर बुरा असर डाल सकता है जिससे बच्चे का मानसिक तनाव बढ़ सकता है।