You are hereNari

ये छोटी-छोटी बातें करेंगी बच्चों का आलस दूर!

1 of 3Nextये छोटी-छोटी बातें करेंगी बच्चों का आलस दूर!
Views:- Saturday, February 18, 2017-11:36 AM

पेरेंटिंग:  कहते है आलस्य मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु है। यह किसी की भी सफलता में रूकावट डाल सकता है। इसलिए इसको अपने से दूर रखना बहुत जरूरी है। आमतौर पर देखा जाता है कि बच्चों को छोटे-छोटे काम करने या पढ़ाई करते समय आलस आने लगता है। ऐसे में उनका आलस्य दूर करना बहुत जरूरी है क्योंकि बढ़ती उम्र के साथ यह उनकी आदत बन सकता है। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे, जिनकी मदद से आप बच्चों का आलस्य दूर कर सकते है। 


1. टाल-मटोल छोंड़े

जब भी कोई काम आता है तो बच्चे यह कहकर टाल देते है कि थोड़ी देर तक कर लेंगे लेकिन यह बात बाद में लत बन सकती है। बच्चों को सिखाएं कि आज का काम कल पर न छोड़े।  

2. लाभ और परिणाम सोंचे

बच्चों को सिखाएं कि किसी भी काम को करने का लाभ और उससे मिलने वाले  परिणाम को देखे। उन्हें बताए कि आलस्य की वजह से आप कई जरूरी चीजें छोड़ सकते है। 

3. व्यवस्थित 

माना की लगातार एक ही काम करके बच्चे बोर हो जाते है, लेकिन उन्हें बताएं कि इन सब काम को व्‍यवस्थित करें, इससे काम आसान लगने लगता है। 

3. जैसे-कैसे शुरूआत 

किसी भी काम को करने की शुरूआत थोड़ी मुश्किल होता है लेकिन धीरे-धीरे आपका ध्यान उस चीज में लगा जाता है और आलस्य दूर रहता है। 

4. सोने का समय 

अच्छी सेहत के लिए सोना भी जरूरी है। इसके लिए पता लगाएं, रात को नींद आती है या नहीं। रोजाना सोने का एक ही समय बनाएं। बच्चों को 8 घंटे की नींद लेने के लिए कहे। 

5. हल्‍का भोजन

ज्यादा खाना खाने की वजह से भी आलस्य हो सकता है। बच्चों को फैट, शुगर और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर भोजन से दूर रखें क्योंकि यह चीजें रक्त शर्करा के बढ़ाने के काम करती है, जिससे आलस्य बनता है।    

6. एक्‍सरसाइज

एक्‍सरसाइज बच्चों का दिमाग तेज करने के साथ-साथ आलस्य को भी दूर करती है। बच्चों को रोजाना योग और एक्सरसाइज करने की सलाह दें। 

7. टास्‍क छोटा रखें

अपने रोजाना के काम को करने के लिए समय बना लें। अगर टास्ट बड़ा है तो छोटी-छोटी चीजों को करने में आलस्य आने लगता है। इसलिए अपना टास्क छोटा रखें।