Twitter
You are hereNari

'गर्लफ्रैंड' से ज्यादा बेहतर होते हैं दोस्त !

'गर्लफ्रैंड' से ज्यादा बेहतर होते हैं दोस्त !
Views:- Thursday, May 18, 2017-5:58 PM

पंजाब केसरी (रिलेशनशिप) : हर मर्द की जिदंगी में उसके दोस्त और 'गर्लफ्रैंड' बहुत मायने रखते हैं लेकिन जिदंगी के एक पड़ाव पर आकर उसे इन दोनों में से किसी एक को चुनना पड़ता है। ऐसे में ज्यादातर लड़के अपने प्यार को ही पहल देते हैं लेकिन कुछ ऐसे कारण बता रहे हैं जिसमें लड़कों को अपने खास दोस्तों को ही चुनना चाहिए।

ज्यादा वक्त नहीं मांगते
दोस्तों से मिलने के लिए लड़कों को ज्यादा समय नहीं निकालना पड़ता और अगर उनसे महीना भी न मिले तो भी दोस्त गुस्सा नहीं करते। इसकी बजाए 'गर्लफ्रैंड' के लिए अापका सारा दिन भी कम होता है।

प्रभावित करना
रिश्ता चाहे जितना भी पुराना क्यों न हो जाए। 'गर्लफ्रैंड' को मनाने और 'इंप्रैस' करने के नए-नए ढंग सोचने पड़ते हैं जिससे वह खुश हो जाए लेकिन दोस्तों के लिए ऐसा कुछ नहीं करना पड़ता।

 अच्छी सलाह
कई बार जिदंगी में व्यक्ति को जरूरी फैसले लेने पड़ते हैं जिसमें उसे किसी अच्छे सलाहकार की जरूरत होती है। ऐसे में 'गर्लफ्रैंड' की बजाए दोस्तों की सलाह हमेशा काम आएगी। 'गर्लफ्रैंड' हमेशा अापकी खुशी के साथ अपनी खुशी भी देखेगी लेकिन दोस्त आपके भले के बारे में सोचकर ही इमानदार सलाह देंगे।

झूूठ नहीं बोलना पड़ता
'गर्लफ्रैंड' को खुश करने के लिए कई बार झूठ भी बोलना पड़ता है लेकिन दोस्तों के साथ कभी ऐसा नहीं करना पड़ता। गर्लफ्रैंड की वजह से लड़के अक्सर घरवालों से झूठ बोलते हैं लेकिन दोस्तों के बारे में सभी को पता होता है।

तैयार होना
दोस्त अापको हर हालत में स्वीकार करते हैं। आप चाहे नहा कर भी न जाएं फिर भी दोस्त आपको कुछ नहीं कहेंगे लेकिन 'गर्लफ्रैंड' से मिलने जाने से पहले 'शेविंग', परफ्यूम और बढ़िया कपड़े पहनने पड़ते हैं।