Twitter
You are hereNari

माधुरी की तरह दिखना हैं जवां तो डाइट में शामिल करें यह आर्गेनिक फूड

माधुरी की तरह दिखना हैं जवां तो डाइट में शामिल करें यह आर्गेनिक फूड
Views:- Monday, March 19, 2018-4:37 PM

एक्ट्रैस माधुरी दीक्षित अक्सर अपनी हैल्दी डाइट और पेय पदार्थों को अपने इंस्टा अंकाउट पर शेयर करती रहती है, जिनकी वजह से वह 50 उम्र में भी जवां दिखती है । हाल ही में माधुरी ने अपनी डाइट के एक मुख्य आहार के बारे बताया, जो लगभग हर घर में मौजूद होता है। शायद यहीं फूड उनकी खूबसूरती और फिटनेस का राज भी है। हाल ही में माधुरी ने स्वादिष्ट दिखने वाली शिमला मिर्च की तस्वीर शेयर की थी, जिसकी कैप्शन में उन्होंने लिखा ‘फाइनली, मेरे खुद के घर की शिमला मिर्च’ जिसपर उन्होंने हैशटैग में आर्गेनिक, वेजिटेबल्स, गार्डनिंग लिखा। 

PunjabKesari

लाल शिमला मिर्च को सबसे अधिक पौष्टिक आहार माना जाता है और हरी शिमला मिर्च को कम पौष्टिक कहा जाता है। वहीं अगर आर्गेनिक हरी शिमला मिर्च का सेवन किया जाए तो काफी फायदा होता है। आज हम आपको उसी के बारे में बताते है कि आखिर क्यों माधुरी अपनी डाइट में आर्गेनिक हरी शिमला मिर्च को शामिल करती है। 

 


हरी शिमला मिर्च में संतरे की तुलना में दोगुणा विटामिन सी की मात्रा मौजूद होती है, जिससे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली बढ़ती है। पोलैंड में हुए एक शोध के अनुसार नॉन-आर्गेनिक शिमला मिर्च की तुलना में आर्गेनिक शमिला मिर्च अधिक पौष्टिक है। इसमें विटामिन सी 10 प्रतिशत, विटामिन बी6 भरपूर मात्रा में होते हैं, जो पचान के लिए काफी फायदेमंद माने जाते है। इसके अलावा शिमला मिर्च ऐेसे एंटीऑक्सिडेंट्स का अच्छा स्त्रोत है, जो कैंसर के खतरे को कम करते है।  

PunjabKesari


हरी शिमला मिर्च में भरपूर फाइबर होते हैं, जिनसे शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और बीएमआई का लेवल कंट्रोल में रहता है। इसमें कैलोरी काफी कम होती है, जिससे मोटापा भी नियंत्रित रहता है। शिमला मिर्च में मौजूद फाइबर ब्लड शुगर और हृदय रोग से बचाएं रखता है। इसके अलावा यह लिवर और आंखों को भी स्वस्थ रखती है। शिमला मिर्च के सिर्फ एक कप में 300 से अधिक माइक्रोग्राम ल्यूटिन और ज़ेकैक्टीनहोता है, जो ऑक्सीडेटिव की क्षति से मैक्यूलर(रेटिना का केन्द्र भाग) को बचा कर रखता है। 

PunjabKesari


अगर आप आर्गेनिक शिमला मिर्च का इस्तेमाल नहीं कर रहे है तो हमेशा पकी हुई शिमला मिर्च खरीदें(लेकिन ज्यादा पकी हुई, मेशी और झुर्रीदार बिल्कुल न खरीदें!) कम पकी हुई शिमला मिर्च में अधिक कैरोटीनॉयड और एन्थोसायनिन होते हैं। फ्रिज में कार्बनिक शिमला मिर्च को स्टोर करें और एक सप्ताह के भीतर ही इस्तेमाल करें। इसके अलावा ज्यागा गर्मी वाली जगह पर न रखें। 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP