Twitter
You are hereNari

देखकर ललचाए नहीं, यह फल कर सकता है आपको बीमार

देखकर ललचाए नहीं, यह फल कर सकता है आपको बीमार
Views:- Saturday, April 22, 2017-12:07 PM

पंजाब केसरी(सेहत):  गर्मी के मौसम में लोग ठंडे तरल पदार्थ के साथ-साथ फलों का सेवन ज्यादा करते हैं। सेहतमंद रहने के लिए फल खाना बहुत जरूरी भी माना जाता है लेकिन बिन मौसम के ये फल आपके शरीर को धीरे-धीरे खोखला कर रहे हैं क्योंकि इन फलों को समय से पहले पकाने के लिए कार्बाइड व एथलिन जैसे कैमिकल्स का सहारा लिया जा रहा है। इन दिनों आम की बिक्री काफी धड़ल्ले से हो रही है। आम के शौंकीन लोग इसे खरीद कर मजे से खा रहे हैं लेकिन फलों के राजा आम को भी कार्बाइड और एथलिन स्प्रे से पकाया जा रहा है जबकि वैज्ञानिकों के अनुसार, आम मार्च के बाद पकने शुरू होते हैं और इनका सही सीजन मई और जून में आता है। 
 

*खतरनाक हैं ये कैमिकल्स
आमों को तेजी से पकाने के लिए आजकल एथलिन स्प्रे का इस्तेमाल किया जा रहा है। एथलिन एक हाईड्रोकार्बन है। कैमिकल इंडस्ट्रीज में इसका बहुत इस्तेमाल किया जाता है। जहां आम को पकने में एक सप्ताह का समय लगता हैं, वहीं इस स्प्रे की मदद से आम को पकने में सिर्फ 24 से 48 घंटे लगते हैं। इन कैमिकल्स युक्त आमों को खाना बेहद खतरनाक साबित हो सकता है क्योंकि इनमें आर्सेनिक और फास्फोरस होते हैं जो स्वास्थ को बहुत नुकसान पहुंचाते हैं। 
 

*स्वास्थ पर बुरा असर 

- डॉक्टरों के अनुसार, इस आमों को खाने से आंतों की गंभीर समस्या व अल्सर की परेशानी हो सकती है।

- गर्भवती महिला द्धारा खाए गए इन कैमिकल वाले फलों से बच्चे के सामान्य विकास में रूकावट आ सकती है।

- न्यूरोलॉजिकल सिस्टम डेमेज हो सकता है।

- सिरदर्द, चक्कर, मतली यहां तक कि हाइपोक्सिया की परेशानी भी हो सकती है।

 

*पहचान करना है नामुमकिन
अहम बात तो यह हैं कि इन प्राकृतिक रूप से घास की पेटी में पकाए गए आम और केमिकल से पके आमों की पहचान करना  मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है। दोनों की आम पक्के पीले रंग में दिखाए देते हैं।