You are hereNari

प्रैग्नेंसी के तीसरे महीने रखें इस तरह की डाइट

प्रैग्नेंसी के तीसरे महीने रखें इस तरह की डाइट
Views:- Monday, June 19, 2017-6:36 PM

पंजाब केसरी (पेरेटिंग)- प्रैग्नेंसी का समय औरत के लिए बहुत खास होता है। इसमें न सिर्फ होने वाली मां का बल्कि होने वाले बच्चे की सेहत का भी पूरा ख्याल रखना पड़ता है। संतुलित खान-पान होगा तो इससे बच्चा भी हैल्दी पैदा होगा। वैसे तो गर्भावस्था का हर महिना बहुत खास होता है लेकिन पहले 3 महीने बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। इस बात का खास ख्याल रखना बहुत जरूरी है कि प्रैग्नेंसी के तीसरे महीने क्या खाना चाहिए।जिससे बच्चे को पूरी ग्रोथ मिल सके। 


1. विटामिन बी-6
इस समय थकान,कमजोरी,चिड़चिड़ापन होना आम बात है। प्रैग्नेंसी के तीसरे महीने में अक्सर मतली की परेशानी भी हो जाती है। ऐसे में अपने आहार में विटामिन बी-6 युक्त आहार जरूर शामिल करें।केला,दूध,हरी पत्तेदार सब्जिया इसके अच्छे स्त्रोत हैं। यह हीमोग्लोबिन बनाने में मददगार है। इसके अलावा ब्राउन राइस, अंडे, दलिया, सोयाबीन, आलू, खट्टे फल खाएं। 

2. फलों का सेवन
प्रैग्नेंसी के तीसरे महीने डाइटिंग से पूरी तरह परहेज करें। खाने के अलावा फलों का भी जरूर सेवन करें। इससे विटामिन,फाइबर,मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। जो कब्ज जैसी परेशानियों से भी राहत दिलाते हैं। डाइट में रोजाना 2 फल जरूर खाएं। 

3. भरपूर पानी
इस समय शरीर में पानी की कमी न होने दें। दिन में कम से कम 8 गिलास पानी और जूस का सेवन करें। 
 

4. आयरन भी है जरूरी
आयरन की कमी का असर बच्चे के विकास पर भी पड़ सकता है। इसके लिए चुकंदर, हरी पत्तेदार सब्जियां, ओटमील, ब्रोकोली, अंडे तथा हरी सब्जियां खाएं। 


5. कार्बोहाइड्रेट्स करें विकास
इस समय किसी भी पोषक तत्व की कमी नहीं होनी चाहिए। कार्बोहाइड्रेट इनमें से खास है। अपनी डाइट में ब्रेड, चांवल, दाल, चपाती, फलियां,शक्करकंदी और आलू शामिल करें। इससे काब्रोहाइड्रेट की कमी पूरी हो जाती है।