Twitter
You are hereNari

वास्तु के हिसाब से इस कोने में होने चाहिए रसोई और बाथरूम

वास्तु के हिसाब से इस कोने में होने चाहिए रसोई और बाथरूम
Views:- Friday, April 13, 2018-6:38 PM

ऑफिस हो या घर बहुत से लोग सुख-शांति और समृद्धि के लिए वास्तु शास्त्र के नियमों का पालन करते हैं। जो लोग इस शास्त्र पर विश्वास रखते हैं वह घर में हर छोटी से लेकर बड़ी चीज का निर्माण करवाने से पहले उसकी दिशा और दोष को सही कर लेना चाहते हैं। घर के कमरे,रसोई और बाथरूम को भी वास्तु टिप्स के हिसाब से बनना शुभ माना जाता है। इसे परिवार में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है। आइए जाने किस तरीके से हो आपके घर में बने रसोई और बाथरूम। 


वास्तु के हिसाब से ऐसा हो किचन
1. रसोई में गैस इस तरीके से रखा जाना चाहिए कि खाना बनाने वाले का मुंह पूर्व दिशा की ओर हो। ऐसा वास्तु के हिसाब से शुभ माना जाता है। 

2. रसोई में गैस को इस तरीके से रखें कि वह बाहर से दिखाई न दें। गैस के दिखाई देने पर पारिवारिक सदस्यों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। 

3. वास्तु के अनुसार सिंक की जगह चूल्हे से दूर होनी चाहिए। अगर ये दोनो एक साथ होंगे तो पारिवारिक लोगों के रिश्तों में आपसी भेदभाव होने शुरू हो जाएंगे। इसका सबसे अच्छा समाधान है कि सिंक की जगह रसोई की उत्तरपूर्व दिशा की तरफ हो। 

4. रसोई में रखे जाने वाले राशन व अन्य सामान की स्टोरेज के लिए उत्तर पूर्वी दिशा की ओर कोना होना अच्छा माना जाता है। 

5. किचन के साथ बाथरूम सटे हुए नहीं होना चाहिए।


वास्तु के अनुसार ऐसा हो बाथरूम

PunjabKesari
1. टॉयलेट हमेशा ईशान कोण को छोड़कर कहीं भी बनाया जा सकता है। ईशान कोण में टॉयलेट बनाने से स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियां और आर्थिक कष्ट होने की सम्भावना रहती है।

2. टॉयलेट से निकलने वाला गंदा पानी उत्तर या पूर्व दिशा से निकलना शुभ होता है।

3. बाथरूम का निर्माण दक्षिण और पश्चिम दिशा के मध्य करवाना चाहिए। 

4. बाथरूम में पानी का नल व शावर उत्तर या पूर्व दिशा में लगाएं। 

 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP