Twitter
You are hereLife Styleअनोखी परंपरा, जहां बेटी ही बनती है अपनी मां की सौतन!
अनोखी परंपरा, जहां बेटी ही बनती है अपनी मां की सौतन!
Views:- Thursday, May 18, 2017-5:53 PM

पंजाब केसरी(लाइफस्टाइल): दुनियाभर में शादी को लेकर कई परंपराएं निभाई जाती हैं। आज हम आपको एक एेसी जनजाति के बारे में बताएंगे जहां एक बेटी को अपने पिता से ही शादी करनी पड़ती है। जी हां, मंडी जनजाति में इस तरह की परंपरा से शादी की जाती है।

बांग्लादेश के दक्षिण पूर्व माधोपुर जंगलों में रहने वाली मंडी जनजाति में मां और बेटी को एक ही मर्द से शादी करनी पड़ती है। इस जनजाति में जब किसी महिला के पति की मौत कम उम्र हो जाती है तो उसे अपने पति के खानदान में से ही एक कम उम्र के आदमी से शादी करनी पड़ती है। एक ही मंडप पर मां और बेटी की शादी नए पति के साथ करवा दी जाती है। कहा जाता है कि कम उम्र का पति नई पत्नी और उसकी बेटी का भी पति बनकर उनकी सुरक्षा करता है। 
PunjabKesari
सम्पति के बंटवारे को रोकने के लिए भी इस परंपरा को निभाया जाता है। इस जाति में परिवार का मुखिया महिला होती है। वहीं, यहां छोटी उम्र में ही महिलाओं की शादी कर दी जाती है। समय बदलने के साथ अब यहां की लड़कियां इस परंपरा का विरोध कर रही हैं।